Download Our App

Follow us

Home » जबलपुर » गंजीपुरा की 3 दुकानें जलकर खाक, दुकानों के पीछे के 3 मकानों तक पहुँची आग

गंजीपुरा की 3 दुकानें जलकर खाक, दुकानों के पीछे के 3 मकानों तक पहुँची आग

दमकल कर्मियों ने 20 वाहनों से 5 घंटे में पाया काबू
अग्नि दुर्घटना स्थल पर महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू भी पहँुचे
जबलपुर (जयलोक)। शहर के सबसे व्यस्ततम बाजार वाले इलाके गंजीपुरा में आज सुबह उस वक्त भगदड़ मच गई जब अचानक एक के बाद एक तीन दुकानों में आग भडक़ उठी। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया और यह आग दुकान से होते ही घरों तक जा पहुँची। खास बात यह है कि आग इतनी ज्यादा बढ़ चुकी थी कि आग ने दुकानों के पीछे के हिस्से में रहने वाले लोगों के घरों को भी अपनी चपेट में ले लिया था। आग लगने से कई लोग घरों में फंस गए थे जिन्हें किसी तरह सकुशल बाहर निकाला गया। आग को बुझाने में दमकल कर्मियों को काफी समय लग गया। जिसके लिए दमकल कर्मियों को करीब 20 दमकल वाहनों की जरूरत पड़ी। आग बुझने के बाद क्षेत्रीय लोगों ने राहत की सांस ली। वहीं जिन लोगों की दुकानों और मकान को आग ने अपनी चपेट में लिया था वे इस घटना से काफी दुखी नजर आए। दमकलकर्मियों ने बताया कि करीब 9 बजे हरदौल मंदिर के समीप कपड़े की दुकान में आग लगने की सूचना मिली थी। तुरंत ही चार दमकल वाहन रवाना किए गए। आग तीन मंजिला इमारत के निचले हिस्से से होकर ऊपर तक पहुँच गई थी। आग भडक़ती देख एक के बाद एक टैंकर अग्रिहादसा स्थल की ओर रवाना किए गए। घटना स्थल तक पहुँचने में दमकल कर्मियों को काफी परेशानी हुई। हालांकि यह कहा जा रहा है कि आग सुबह 6 बजे के आसपास लगी होगी। लोगों की नजर आग पर तब पड़ी जब आग काफी बढ़ चुकी थी।
बैग की दुकान में लगी थी आग
सबसे पहले आग बैग की दुकान में शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी थी। आग इतनी ज्यादा बढ़ गई कि अगल-बगल की कपड़ों की दुकानों तक पहुंच गईं। सुबह 11 बजे तक आग इन दुकानों के पीछे 3 घरों तक भी फैल गई। हालांकि तीनों दुकानें अलग-अलग बिल्डिंग में हैं, लेकिन लपटें इतनी ऊंची थीं कि आग भीषण रूप से बढ़ गई। लेकिन समय रहते आग पर काबू पा लिया गया जिससे घरों में आग ज्यादा नहीं बढ़ सकी।
कड़ी मशक्कत के बाद पाया गया आग पर काबू
दमकल कर्मियों ने बताया कि दुकानों में आग लगने की सूचना मिलने के बाद दकमल वाहनों को रवाना किया गया। लेकिन गंजीपुरा की संकरी गलियों से गुजरने में दमकल वाहनों को काफी परेशानी उठानी पड़ी। संकरी गलियाँ और भीड़ होने के कारण दुकानों में लगी आग बुझाने में काफी समय लग गया। आलम यह था कि एक दमकल वाहन अग्रिहादसा स्थल पर पहुँचने के लिए दूसरे वाहन को वहाँ से पहले बाहर निकालना पड़ा। आग में लाखों रुपये के नुकसान की आंशका जताई जा रही है। गनीमत रही की इस घटना में कोई जनहानि नहीं हुई वहीं आग लगने के कारणों का पता लगाया जा रहा है। प्रारंभिक अनुमान के अनुसार शार्ट सर्किट से आग लगना बताया जा रहा है।
काफी ऊपर तक उठ रहीं थी लपटें
आग के भयानक रूप का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आग की लपटें काफी ऊपर तक उठ रहीं थीं। आग की तपन से कोई भी दुकानों के आसपास नहीं जा पा रहा था। आग लगने से उठ रहे धुएं के गुबार को दूर से ही देखा जा सकता था।
आसपास के दुकानों में बढ़ा खतरा
गंजीपुरा का इलाका काफी भीड़ भाड़ वाला है। यहां दुकानें और मकान काफी सटकर बनाए गए हैं। ऐसे में एक दुकान में आग लगने से यह आग तीन दुकानों के साथ तीन घरों तक जा पहुँची। लेकिन गनीमत रही कि इस आग से किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई।
सुबह से लेकर रात तक रहती है भीड़
गंजीपुरा के जिस क्षेत्र में आज आग लगी थी वहां सुबह से लेकर देर रात तक भीड़ बनी रहती है। लोगों का कहना है कि गनीमत रही कि आग सुबह लगी जब सभी दुकानें बंद थी। अगर यहीं आग दोपहर में या फिर शाम को लगती तो कोई बड़ा हादसा भी हो सकता था। शाम को यहां भीड़भाड़ काफी बढ़ जाती है। वहीं संकरी गलियाँ और सटके बनी दुकानें और मकान इस आग को और बढ़ा सकते थे। इतना ही नहीं भीड़ होने पर लोगों को संकरी गलियों से लोगों को बाहर निकालने और दमकल वाहनों को दुकानों तक पहुँचाने में भी काफी समय लग जाता।
आग बुझाने के नहीं थी उपकरण
यह बात भी कही जा रही है कि जिन तीन दुकानों में आग भडक़ी थी उन सभी दुकानों में आग बुझाने के कोई उपकरण मौजूद नहीं थे। इसके साथ ही आसपास की दुकानों में भी आग से निपटने के लिए कोई उपकरण नहीं थे जो एक बड़ी लापरवाही बताई जा रही है।
20 वाहनों से बुझी आग
दमकल कर्मियों ने बताया कि आग काफी बढ़ चुकी थी। शुरू में चार वाहनों को रवाना किया गया लेकिन देखते ही देखते आग बढ़ती गई और सूचना मिलने के साथ ही दमकल वाहनों को अग्रिहादसा स्थल की ओर रवाना किया गया। आग बुझाने के लिए कुल 20 दमकल वाहनों की जरूरत पड़ी। वहीं आग पर काबू पाने के लिए दकमल कर्मियों को करीब 5 घंटों का समय लग गया।
नुकसान का अभी अनुमान नहीं
दमकल कर्मियों ने बताया कि आग बुझाने के बाद दुकानों के अंदर सिर्फ धुआँ ही धुआँ भरा हुआ था। दुकानों के अंदर रखा सामान पूरी तरह से जलकर खाक हो चुका था। आग लगने से नुकसान का अनुमान लाखों में बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि जिन दुकानों में आग लगी थी उनमें एक बैग दुकान, एक लेडीज गारमेंट और एक कपड़े की दुकान है। सभी दुकानदार अपनी दुकानों के आसपास ही रहते हैं ऐसे में आग लगने की जानकारी मिलते ही सभी कुछ ही देर में अपनी अपनी दुकानों तक पहुँच गए।
घंटों बंद रही विद्युत सप्लाई
आग लगने की जानकारी मिलते ही बिजली विभाग ने तत्काल विद्युत सप्लाई बंद कर दी। इस हादसे में बिजली के तार भी जले हैं। ऐसे में आग बुझने के बाद भी घंटों तक क्षेत्र की विद्युत सप्लाई बंद रही। हालांकि विद्युत विभाग की टीम ने भी मौके पर पहुँचकर अपना काम शुरू कर दिया।

Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » जबलपुर » गंजीपुरा की 3 दुकानें जलकर खाक, दुकानों के पीछे के 3 मकानों तक पहुँची आग
best news portal development company in india

Top Headlines

वीरांगना दुर्गावती के बलिदान दिवस पर दो दिवसीय आयोजन 22 को मैराथन और 24 जून को समाधि और प्रतिमा स्थल पर होंगे कार्यक्रम

जबलपुर (जयलोक) नगर निगम जबलपुर द्वारा दुर्गावती स्मृति रक्षा अभियान एवं मित्रसंघ-मिलन के संयोजन में वीरांगना रानी दुर्गावती के 461वें

Live Cricket