Download Our App

Follow us

Home » तकनीकी » पर्यटन के लिए बेड़ा टापू सौंपा जाएगा 90 साल की लीज पर

पर्यटन के लिए बेड़ा टापू सौंपा जाएगा 90 साल की लीज पर

हनुमंतिया की तरह किया जाएगा विकसित

भोपाल (जयलोक)
नर्मदा नदी पर बने इंदिरा सागर और ओंकारेश्वर बांध के जलभराव वाले इलाकों में बने टापुओं को प्रदेश सरकार लगातार पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित कर रही है। इसी कड़ी में अब एक और नए टापू का चयन किया गया है, जिसे पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। इस टापू को निजी हाथों में 90 साल के लिए लीज पर दिया जाएगा। दरअसल अब तक पर्यटन निगम द्वारा इन दोनों ही बांधों के बैकवाटर स्थित टापुओं को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने की योजना पर बीते लंबे समय से काम किया जा रहा है। इसके परिणाम स्वरूप अब तक हनुवंतिया जल पर्यटन केंद्र, सैलानी आईलैंड तथा वन विभाग के बोरियामाल टापू को पर्यटक स्थल के रुप में विकसित किया जा चुका है। इसके बाद अब नगर खेड़ा आईलैंड को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने का काम शुरू किया गया है। इसे एक निजी कंपनी को 90 साल की लीज पर सौंपने का करार पर्यटन विकास निगम ने किया है। उत्तराखंड की राजेश एरो स्पोर्ट्स एडवेंचर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी इसे पर्यटन केंद्र और आयुर्वेदिक हर्बल पार्क के रूप में विकसित करेगी। खंडवा जिले की मूंदी तहसील स्थित अंतरराष्ट्रीय स्तर के हनुवंतिया वाटर स्पोर्ट एंड एडवेंचर एक्टिविटी सेंटर के निकट इंदिरा सागर बांध के बैकवाटर में नागरबेडा टापू पर करीब 30 हेक्टेयर में पर्यटन स्थल आकार लेगा। लगभग पांच साल पहले पर्यटन विकास निगम ने 400 एकड़ में फैले इस टापू को विकसित करने के लिए दो से ढाई करोड़ रुपए खर्च कर यहां बिजली और आवश्यक बुनियादी खाका तैयार कर लिया था। नागर बेड़ा टापू तक बीड़ शिवरिया से बैकवाटर के बीच खंभे खड़े करने के बाद डबल सप्लाई 132 केवीए लाइन डालकर यहां सब स्टेशन बनाया गया है। नागरबेड़ा टापू पूर्व में एनवीडीए के आधिपत्य में था। हनुवंतिया टापू को जल पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने के लिए 15 साल पहले हनुवंतिया के साथ ही नागर बेड़ा टापू भी मध्य प्रदेश पर्यटन विकास निगम को हस्तांतरित कर दिया गया था। तभी से इसे विकसित करने के लिए कई कार्य योजना बन चुकी हैं।
90 साल की लीज पर  दिया गया टॉपू
गौरतलब है कि इंदिरा सागर और ओंकारेश्वर बांध के बैकवाटर में 25 से अधिक छोटे-बड़े टापू है। पर्यटन विकास निगम की हनुवंतिया, सैलानी, धारीकोटला, नागरबेल को एडवेंचर टूरिज्म सेंटर के रूप में विकसित करने की प्लानिंग है। हनुवंतिया टापू पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का ड्रीम प्रोजेक्ट होने से नौ साल पहले पर्यटन विकास निगम द्वारा स्वयं इसे जल पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित कर यहां प्रतिवर्ष दो माह का जल महोत्सव आयोजित किया जाता है।
हनुमंतिया टापू बना  पर्यटकों की पसंद
हनुवंतिया टापू के नाम से मशहूर ये डेस्टिनेशन खंडवा जिले में स्थित है। सर्दियों के मौसम में यहां सर्वाधिक लोग घूमने आते हैं। इसे लोग अब मिनी गोवा भी कहने  लगे हैं। इसकी वजह है यहां पर गोवा से भी सुंदर और एडवेंचर से भरपूर डेस्टिनेशन मौजूद है। यहां पर ट्रैकिंग, वाटर स्पोट्र्स और फ्लोटिंग  के अलावा जीप सफारी का आनंद भी ले सकते हैं। इसके अलावा  हॉट एयर बैलून के साथ-साथ वाटर स्पोर्ट्स जैसे स्कूबा डाइविंग, वॉटर ज़ोरिंग, वॉटर पैरासेलिंग और बोटिंग जैसे की सुविधाएं मौजूद हैं।

Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » तकनीकी » पर्यटन के लिए बेड़ा टापू सौंपा जाएगा 90 साल की लीज पर
best news portal development company in india

Top Headlines

वीरांगना दुर्गावती के बलिदान दिवस पर दो दिवसीय आयोजन 22 को मैराथन और 24 जून को समाधि और प्रतिमा स्थल पर होंगे कार्यक्रम

जबलपुर (जयलोक) नगर निगम जबलपुर द्वारा दुर्गावती स्मृति रक्षा अभियान एवं मित्रसंघ-मिलन के संयोजन में वीरांगना रानी दुर्गावती के 461वें

Live Cricket