Download Our App

Follow us

Home » जबलपुर » बर्फानी सिक्योरिटी सर्विस ने नहीं किया कर्मचारियों का भुगतान

बर्फानी सिक्योरिटी सर्विस ने नहीं किया कर्मचारियों का भुगतान

उद्यानों में बंद हुआ काम , निगमायुक्त के निर्देश पर हुआ भुगतान
वेतन ना मिलने से भडक़े माली
जबलपुर (जयलोक)। शहर के उद्यानों का रखरखाव इन दिनों बंद हो गया है। जिसका मुख्य कारण मालियों को बर्फानी सिक्योरिटी सर्विस द्वारा वेतन का भुगतान ना होना बताया जा रहा है। नाराज माली वेतन ना मिलने से निगम के बाहर धरने पर बैठने की तैयारी कर रहे थे। इसी बीच निगमायुक्त प्रीति यादव को इसकी खबर लगते ही उन्होंने तुरंत इस मामले में निर्देश जारी किए और मालियों को भुगतान कराया।
मालियों का आरोप है कि ठेकेदार द्वारा तीन माह से वेतन का भुगतान नहीं किया गया है। ऐसे में परिवार पर आर्थिक संकट आ गया है। जबकि मालियों को हर माह की 7 तारीख तक वेतन देने का प्रावधान है। बर्फानी सिक्योरिटी सर्विस के मालिक रीतेश टंडन पर पूर्व में भी कर्मचारियों को महीनों  तक भुगतान न करने के आरोप लग चुके हैं।  जिसकी पहले भी कई बार शिकायतें निगम तक पहुँच चुकी हैं। मालियों का कहना है कि जब तक वेतन का भुगतान नहीं होगा तब तक कार्य भी नहीं होगा। मालियों का कहना है कि शहर के उद्यानों की देखरेख के लिए ठेके पर कार्य दिया गया है। ठेकेदार द्वारा उनसे कार्य करवाया जा रहा है। तीन माह से वेतन ना मिलने से घर में एक वक्त की रोटी भी नहीं मिल पा रही है। वहीं बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है।
काम नहीं करेंगे माली
मालियों ने कहा कि जब तक वेतन का भुगतान नहीं होगा तब तक काम भी नहीं होगा। उन्होंने कहा कि शहर को साफ सुथरा रखने में उनका भी अहम योगदान है। शहर के उद्यानों की वे नियमित साफ सफाई करते हैं।
अगर वे ऐसा ना करें तो उद्यानों में गंदगी और कचरा हो जाएगा। लेकिन बात जब उनके वेतन की आती है तो ठेकेदार बात कल पर टाल देता है। लेकिन अब इंतजार की हद हो गई है और अब वे बिना वेतन के काम नहीं करेंगे।
वेतन माँगने पर नौकरी से  निकालने की धमकी
मालियों का यह भी आरोप है कि जब भी ठेकेदार से वेतन माँगते हैं तो वे नौकरी से निकालने की धमकी देते हैं। ठेकेदार द्वारा उनके साथ अभद्रता की जाती है। उनके परिवार में छोटे छोटे बच्चे हैं वेतन ना मिलने से वे भी भूखे हैं।

शिकायतों से घिरी कंपनी
बाबा बर्फानी के डायरेक्टर रितेश टंडन पर पहले भी कर्मचारियों के पैसे समय पर ना देने के आरोप लग चुके हैं। इसके साथ ही नाबालिकों को काम पर रखने, जीएसटी में गड़बड़ी के भी आरोप लग चुके हैं। लेकिन इन आरोपों को अनदेखा कर उद्यानों के सफाई का ठेका इसी कंपनी को दे दिया गया।
इनका कहना है
इस बात की जानकारी मिली है मालियों का भुगतान करवा दिया गया है। उद्यानों की सफाई रोज की तरह जारी है। वहीं ठेका कंपनी के खिलाफ भी एक्शन लेंगे।

प्रीति यादव,
नगर निगम आयुक्त

Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » जबलपुर » बर्फानी सिक्योरिटी सर्विस ने नहीं किया कर्मचारियों का भुगतान