Download Our App

Follow us

Home » जबलपुर » देश के 554 रेलवे स्टेशन बनेंगे विश्वस्तरीय पीएम मोदी ने किया वर्चुअल शिलान्यास

देश के 554 रेलवे स्टेशन बनेंगे विश्वस्तरीय पीएम मोदी ने किया वर्चुअल शिलान्यास

भोपाल (जयलोक)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश भर में 554 रेल परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इसमें अमृत भारत रेलवे स्टेशन योजना के अंतर्गत रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास व ओवरब्रिजों, अंडरपास का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया।
प्रधानमंत्री मोदी ने देश में 41 हजार करोड़ रुपये से अधिक के लगभग 2000 रेलवे के नए प्रोजेक्ट का शिलान्यास और उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने सांगानेर समेत देश के 554 रेलवे स्टेशन पर विकास कामों का शिलान्यास किया। सांगानेर रेलवे स्टेशन पर 192 करोड़ रुपये की लागत से कई री-डेवलपमेंट के काम होंगे। यह स्टेशन 2025-26 में बनकर तैयार होगा। इनमें जयपुर रेल मंडल के 16 रेलवे स्टेशन भी शामिल हैं, जहां वर्ल्ड लेवल की सुविधाओं के साथ हेरिटेज लुक के एंट्री गेट बनेंगे। नए प्लेटफार्म, चौड़े फुट ओवर ब्रिज के साथ स्टेशन सर्कुलेटिंग एरिया को बढ़ाया जाएगा। इसके साथ ही कई रेलवे क्रॉसिंग पर आरओबी/आरयूबी या सब-वे बनाए जाएंगे। पीएम मंडल के छह रेलवे स्टेशन के 44 रेल फ्लाई ओवर और अंडरपास पर होने वाले कामों का भी लोकार्पण और शिलान्यास किया।
रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि सभी स्टेशन का काम तेजी से चल रहा है। आज 554 स्टेशन का भूमिपूजन किया जा रहा है। पिछले 10 साल में तेजी से विकास हुआ है। इटली और फ्रांस में जितनी रेल लाइन है, उतनी अकेले रेलवे लाइन पीएम मोदी ने जोड़ी है। अभी 15 किलोमीटर प्रतिदिन रेलवे लाइन तैयार हो रही है। उन्होंने कहा कि वंदे भारत का कुछ ही साल में नेटवर्क बढ़ाया जाएगा। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने कहा कि हमारे सांगानेर का रेलवे स्टेशन एक ऐतिहासिक बनने वाला है। इस स्टेशन के री-डेवलपमेंट के लिए 192 करोड़ रुपये मंजूर हुए हैं, जिससे यहां पर कई विकास काम होंगे। सांगानेर स्टेशन पर रंगाई-छपाई का मॉडल भी लगेगा। सांगानेर स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा, उप मुख्यमंत्री दीया कुमारी, प्रेमचंद बैरवा, जयपुर शहर सांसद रामचरण बोहरा, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी, ग्रेटर नगर निगम महापौर सौम्या गुर्जर और सिविल लाइंस विधायक गोपाल शर्मा मौजूद रहे।
जयपुर मंडल पर अमृत भारत योजना के तहत यात्री भार को देखते हुए पहले 15 स्टेशनों का चयन किया गया है, जिनमें फुलेरा, नरैना, रींगस, आसलपुर-जोबनेर, सीकर, झुंझुनूं, फतेहपुर-शेखावाटी, नीमकाथाना, खैरथल, अलवर, राजगढ़, बांदीकुई, दौसा, रेवाड़ी और नारनौल स्टेशन शामिल है। रेलवे बोर्ड की ओर से जयपुर मंडल के एक नए स्टेशन सांगानेर को भी योजना में शामिल किया गया है। सांगानेर रेलवे स्टेशन पर 192 करोड़ रुपये, दौसा रेलवे स्टेशन पर 15.17 करोड़, राजगढ़ रेलवे स्टेशन पर 13.09 करोड़, खैरथल रेलवे स्टेशन पर 12.78 करोड़, नीमकाथाना रेलवे स्टेशन पर 16.15 करोड़, फतेहपुर शेखावाटी रेलवे स्टेशन पर 15.57 करोड़ रुपये की लागत के काम कराए जाएंगे।
उत्तर-पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण ने बताया, अमृत स्टेशनों के शिलान्यास के अलावा सवाई माधोपुर-जयपुर रेल मार्ग पर 2 आरओबी व 1 (रु॥स्) सीमित ऊंचाई के पुल, रेवाड़ी-जयपुर रेल मार्ग पर 3 आरओबी, 4 आरयूबी व 1 (रु॥स्), जयपुर-मदार रेल मार्ग पर 3 आरओबी,1 आरयूबी, आरपीसी रेल मार्ग पर 2 आरओबी,1 आरयूबी, जयपुर-सीकर-चूरू रेल मार्ग पर 1 आरओबी,1 आरयूबी, सीकर-लोहारू रेल मार्ग पर 5 आरयूबी,1  सीमित ऊंचाई के पुल व दौसा-गंगापुर सिटी रेल मार्ग पर 2 आरओबी, 2 आरयूबी व 14 (रु॥स्) सीमित ऊंचाई के पुल बनाने के कामों का भी शिलान्यास और लोकार्पण किया।
क्या बोले पीएम मोदी
पीएम ने कहा कि आपका सपना, आपकी मेहनत और मोदी का संकल्प विकसित भारत की गारंटी है। वंदे भारत जैसी सेमी हाई स्पीड ट्रेन के बारे में किसी सरकार ने नहीं सोचा। इसकी कल्पना एक दशक तक पहले मुश्किल थी। एक दशक पहले तक ट्रेन में स्वच्छता स्टेशन पर सफाई बड़ी बात मानी जाती थी। आज ये सब रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन गए हैं। एयरपोर्ट जैसी आधुनिक सेवाएं सिर्फ पैसे वालों खाते में है। आज रेलवे पर एयरपोर्ट जैसी सुविधा गरीब लाभ ले सकता है। उन्होंने कहा कि दशकों तक रेलवे को स्वार्थ भरी राजनीति का शिकार होना पड़ा। आज रेलवे इज ऑफ ट्रैवलिंग का हिस्सा बन गई है। आज रेलवे बड़े परिवर्तन के दौर से गुजर रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि रेलवे लाइन बिछाने की गति दोगुनी हो गई। आज ऐसी जगहों पर रेल पहुंच रही है, जिसकी लोगों ने कल्पना भी नहीं की। जैसे बैंक में जमा पैसे पर ब्याज मिलता है, वैसे इंफ्रास्ट्रक्चर पर लगी पाई से रोजगार के साधन बनते हैं। हमारी रेल छोटे किसानों को बढ़ावा देने वाली है। इसके लिए स्टेशनों पर विशेष दुकानें बनाई गई हैं। रेल की गति बढ़ेगी और उत्पादन तेजी से मार्केट पहुचेंगे और उद्योगों की लागत कम होगी। आज पूरी दुनिया में भारत को निवेश के लिए सबसे आकर्षक माना जा रहा है। इसका कारण आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर है।

Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » जबलपुर » देश के 554 रेलवे स्टेशन बनेंगे विश्वस्तरीय पीएम मोदी ने किया वर्चुअल शिलान्यास
best news portal development company in india

Top Headlines

दुकानदारी का अड्डा बना कंट्रोल रूम कलेक्टर ने किया बंद : चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी बनकर बैठा था प्रभारी

जबलपुर (जय लोक) जिला कलेक्टर कार्यालय में कोरोना काल के समय सुविधा और जानकारी मोहिया कराने के उद्देश्य से एक

Live Cricket