Download Our App

Follow us

Home » तकनीकी » ओलावृष्टि का आंकलन करने पटवारी मैदान में, 5 से 10 प्रतिशत नुकसान का अंदेशा

ओलावृष्टि का आंकलन करने पटवारी मैदान में, 5 से 10 प्रतिशत नुकसान का अंदेशा

 जबलपुर एसडीएम ले रहे पल-पल की खबर  

जबलपुर (जयलोक)
मौसम में हुए बदलाव के कारण अचानक अल सुबह  जोरदार गरज चमक के साथ बादलों ने बरसना प्रारंभ कर दिया। कुछ स्थानों पर जमकर ओलावृष्टि भी हुई है। इन हालातों को देखते हुए जिला प्रशासन ने तत्काल फसलों को हुए नुकसान के आंकलन के लिए सभी पटवारियों को मैदान में उतार दिया। सुबह सवेरे ही पटवारी अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण के लिए निकल पड़े थे एवं बारिश और ओलावृष्टि के कारण हुए नुकसान और इसके प्रभाव का आंकलन कर रहे थे। एसडीएम जबलपुर पीके सेनगुप्ता लगातार ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण कर रहे पटवारियों से पल-पल की खबर ले रहे हैं। एसडीम पीके सेनगुप्ता ने जय लोक को बताया कि शाम तक नुकसान के आंकलन और प्रभावित हुए क्षेत्र के बारे में डाटा एकत्रित हो पाएगा, आज दिन भर इस प्रकार चल रहा है। प्रारंभिक तौर पर बरेला क्षेत्र के ग्राम सोहड़, डुगरिया, बरसा, खापाग्वारी, बंदरकोला आदि क्षेत्र में चने के बराबर ओले गिरने की सूचना मिली है। जिसकी जाँच करवाई जा रही है। कुछ स्थानों पर बड़े ओले गिरने की बात सामने आई है। इसके अलावा भी अन्य क्षेत्रों के पटवारी भी अपने-अपने क्षेत्र में दौरा कर रहे हैं। पाटन, पनागर, बरगी, महाराजपुर, खमरिया, रांझी सहित शहर के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में थोड़ा आंकलन करवाया जा रहा है। अधारताल एसडीएम शिवाली सिंह ने जय लोक को बताया कि तहसीलदार और पटवारी की रिपोर्ट के अनुसार उनके क्षेत्र में ओलावृष्टि से आधारताल तहसील में अधिक प्रभाव नहीं पड़ा है।

Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » तकनीकी » ओलावृष्टि का आंकलन करने पटवारी मैदान में, 5 से 10 प्रतिशत नुकसान का अंदेशा