Download Our App

Follow us

Home » Uncategorized » साइबर अपराध : चोर डाल-डाल पुलिस पात-पात जागरूकता ही सबसे बड़ा बचाव- ए एसपी समर वर्मा

साइबर अपराध : चोर डाल-डाल पुलिस पात-पात जागरूकता ही सबसे बड़ा बचाव- ए एसपी समर वर्मा

जबलपुर (जयलोक)
सायबर अपराध व बैंक फ्रॉॅड पुलिस के लिए चुनौती बन गए हैं। बीते कुछ वर्षों में एटीएम, बैंक और ऑनलाइन ठगी की वारदातें काफी बढ़ गई हैं। जिसमें कुछ तो एटीएम तोडऩे के मामले भी सामने आए हैं। ऐसे मामलों में अधिकांश अपराधी किसी दूसरे शहर में बैठकर ठगी की वारदात को अंजाम देते हैं। ऐसे में पुलिस का उन तक पहुँचना काफी मुश्किल हो जाता है। लेकिन हाईटैक हो चुके अपराधियों को पकडऩे के लिए पुलिस ने भी हाईटैक तरीके अपनाए हैं। जिसकी मदद से सायबर क्राईम के कई अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुँचा दिया गया है। इस मामले में पुलिस की सायबर सेल टीम प्रमुख भूमिका निभा रही है। जिनकी मदद से पुलिस ने कई सायबर क्राईम से जुड़ी वारदातों को सुलझाया है। हालांकि चोर डाल-डाल है तो पुलिस भी पात-पात बनी हुई है। साइबर क्राइम वर्तमान समय में पूरे विश्व के लिए एक खतरा बन गया है। इंटरनेट के बढ़ते प्रभाव के कारण इससे दूर रह पाना संभव नहीं है, ऐसी स्थिति में साइबर क्राइम से बचने के लिए सर्तकता सबसे जरूरी है।
इस संबंध में साइबर सेल का कार्य देख रहे एएसपी क्राईम समर वर्मा ने जय लोक से चर्चा करते हुए बताया कि सायबर क्राईम से निपटने के लिए सायबर सेल और पुलिस की टीम लगातार कार्रवाही कर रही है। ऐसे कई मामलों को पुलिस ने सुलझा भी लिया है जिन लोगों के खातों से राशि ट्रांसफर की गई है उन्हें उनकी राशि वापस भी दिलाई जा चुकी है। लेकिन सायबर क्राइम को रोकने के लिए लोगों को भी जागरूक होने की जरूरत है।
पुलिस कर रही यें प्रयास
एएसपी क्राईम श्री वर्मा ने बताया कि सायबर क्राइम से बचने के लिए लगातार पुलिस प्रयास कर रही है। इसके लिए स्कूल कॉलेजों में जाकर छात्र-छात्राओं को सायबर क्राईम से जुड़े विषयों की जानकारी दी जाती है। उन्हें इससे बचने और ऐसे क्राइम करने पर क्या कार्रवाही की जाती है इसकी जानकारी दी जा रही है।
मोबाईल लौटाने वालों से पुलिस बनाए रखती है संपर्क
एएसपी श्री वर्मा ने बताया कि सायबर सेल टीम द्वारा गुमे या चोरी हुए मोबाईल खोजकर उपयोगकर्ता को वापस लौटाए जा रहे हैं। लेकिन सायबर टीम और पुलिस का काम यहाँ खत्म नहीं हो रहा है। हर माह मोबाईल पाने वाले व्यक्ति से फोन पर बात कर सायबर क्राइम से जुड़े विषयों में जागरूक किया जा रहा है। उन्हें इस तरह के फोन या मेल आने पर क्या करना है इसकी हर माह समझाईश दी जा रही है। इसके साथ ही पुलिस समय समय पर प्रेस वार्ता और विज्ञापन की मदद से लोगों को सायबर क्राइम से बचने की जानकारी दे रही है।
खाता बेचने वालों पर हो रही कार्रवाही
श्री वर्मा ने बताया कि करोड़ों की धोखाधड़ी मामलों में यह देखा गया है कि शातिर अपराधी बड़ी रकम ट्रांसफर करने के लिए खाते खरीद रहे हैं ऐसे में जो भी व्यक्ति बैंक खातों को बेच रहा है उस पर कार्रवाही की जा रही है।
लोकल नेटवर्क तोडऩे पर चल रहा काम
श्री वर्मा ने कहा कि साइबर क्राइम में लोकल नेटवर्क अपराधियों के लिए काफी मददगार होता है। ऐसे में पुलिस लोकल नेटवर्क को तोडऩे का प्रयास कर रही है। ताकि निचले स्तर से ही जालसाजों तक लोगों की जानकारी ना पहुँच सके। जनवरी माह में ऐसे पाँच मामलों के आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है जो बैंक खातों को बेचते पकड़े गए हैं।

ये हैं बचने के तरीके

फर्जी बैंक कॉल
आपको जाली ईमेल, मैसेज या फोन कॉल प्राप्त हो जो आपकी बैंक जैसा लगे जिसमें आपसे पूछा जाये कि आपके एटीएम नंबर और पासवर्ड की आवश्यकता है और यदि आपके द्वारा यह जानकारी नहीं दी गयी तो आपको खाता बन्द कर दिया जायेगा या इस लिंक पर सूचना दें। याद रखें किसी भी बैंक द्वारा ऐसी जानकारी कभी भी इस तरह से नहीं मांगी जाती है और भूलकर भी अपनी किसी भी इस प्रकार की जानकारी को इन्टरनेट या फोनकॉल या मैसेज के माध्यम से नहीं बताएं।
जानकारी चोरी करना
किसी के कंप्यूटर से उसकी निजी जानकारी जेसे की उपयोगकर्ता नाम या पासवर्ड निकालना, किसी के कम्प्यूटर से जानकारी का डिलीट करना, मूल जानकारी में कुछ जोडऩा या हटा देना।
स्पैम ईमेल में निजी जानकारी ना दें
किसी के पास स्पैम ईमेल आने पर अपनी निजी जानकारी न दें ऐसे ईमेल को रिजेक्ट ही करें।
वायरस फैलाना
साइबर अपराधी कुछ ऐसे सॉफ्टवेयर कम्प्युटर पर भेजते हैं जिसमें वायरस छिपे हो सकते हैं। इनमें वायरस, वर्म, टार्जन हॉर्स, लॉजिक आदि वायरस शामिल हैं, यह कंप्यूटर को काफी हानि पहुंचा सकते हैं। ऐसे में वायरस से बचने के लिए भी उपाय करते रहना चाहिए।
साइबर बुलिंग
फेसबुक, इंस्टाग्राम, ऑनलाइन शॉपिंग भी ऑनलाईन ठगी का नया जरिया बन गया है। जिसके जरिए जालसाज अपनी बातों में फंसाकर एकाउंट की जानकारी ले लेता है और पलक झपकते ही एकाउंट खाली कर देता है।
Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » Uncategorized » साइबर अपराध : चोर डाल-डाल पुलिस पात-पात जागरूकता ही सबसे बड़ा बचाव- ए एसपी समर वर्मा