Download Our App

Follow us

Home » अपराध » फर्जी वाहन फाइनेंस करने में बैंक कर्मचारी भी शामिल

फर्जी वाहन फाइनेंस करने में बैंक कर्मचारी भी शामिल

जल्द होगी गिरफ्तारी
जबलपुर (जयलोक)। कल ओमती पुलिस ने एक पीडि़त व्यक्ति की शिकायत की जांच पर दो पहिया वाहन और मोबाइल फाइनेंस करने के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाले एक गिरोह को पकड़ा है। इनके कब्जे से कुल 11 दो पहिया वाहन बरामद हुए हैं जिनमें से सात बुलेट मोटरसाइकिल हैं जो यह दूसरों के नाम पर फाइनेंस करा कर सस्ते दामों में बेच दिया करते थे। अब इस गिरोह के बारे में यह जानकारी भी निकल कर सामने आ रही है कि इसमें बहुत सारे बैंक के फाइनेंस विभाग के कर्मचारियों की भी मिली भगत रही है जल्द ही पुलिस इनको गिरफ्तार करेगी।  पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह से हामीद अली निवासी छोटी ओमती ने शिकायत की कि वह लकडग़ंज में अज्जू अजर की चाय दुकान में काम करता है। लगभग 4 वर्ष पहले वर्ष 2020 में कोरोना के समय उसे एक गाड़ी की आवश्यकता थी। गुल्लू उर्फ  गुल्फाम गाड़ी फायनेंस कराने का काम करता है, जिसने उसे बताया था कि गाड़ी फायनेंस करवा दूंगा। गुल्लू के साथ ईसू तथा एहफाज भी थे, गुल्लू ने उसका आधारकार्ड ले लिया था और उसे सिविल कोर्ट के पास एक दुकान में ले गया जहां पर ईसू भी मिला था तीनों ने वहीं एक दुकान में उसका पेनकार्ड बनवाया था फिर उसे गुल्लू उर्फ  गुल्फाम कार्तिक होटल के पीछे लेकर गया जहां पर एहफाज और ईसू मिले जिन्होने बैंक में अकाउण्ट खुलवाने का फार्म भरवाया, उससे फार्म में अंगूठा लगवाया फिर गुल्लू ने उसे अपनी गाड़ी में बैठाकर लकडगंज में छोड़ दिया था। आरोपियों ने कई वाहन शोरूम के सामने ले जाकर उससे दस्तावेजों में अंगूठा लगवाया। अभी कुछ दिन पहले फायनेंस कम्पनी वाले उसे ढूढ़ते हुये आये और उसे बताया कि उसके नाम पर 2 एक्सिस गाडिय़ाँ फायनेंस हुयी हैं  उसे पता चला है कि गुल्लू एवं एहफाज तथा ईसू ने उसके नाम पर 2 एक्सिस तथा एक मोबाइल फायनेंस करवायें है तथा उसे न देकर किसी अन्य को बेच दिये हैं
( जिसके लोन उसके नाम पर चल रहा है। थाना प्रभारी ओमती वीरेन्द्र सिह पवार के नेतृत्व में टीम गठित कर लगाई गयी। गठित टीम द्वारा सरगर्मी से तलाश करते हुये आरोपी गुल्लू उर्फ  गुलफाम अली एवं मोह. हैदर उर्फ  ईशू  तथा ऐवे उर्फ  एहफाज को अभिरक्षा मे लेते हुये पूछताछ कर एक अन्य आरोपी आशुतोष झा को अभिरक्षा में लिया गया। पकड़े गये आरोपियों की निशादेही पर फायनेंस कराकर बेची हुई 7 बुलट मोटर सायकिल एवं 2 एक्सिस तथा 1 एक्टीवा एवं 1 बजाज चेतक वाहन को जप्त किया गया है।

Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » अपराध » फर्जी वाहन फाइनेंस करने में बैंक कर्मचारी भी शामिल
best news portal development company in india

Top Headlines

दुकानदारी का अड्डा बना कंट्रोल रूम कलेक्टर ने किया बंद : चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी बनकर बैठा था प्रभारी

जबलपुर (जय लोक) जिला कलेक्टर कार्यालय में कोरोना काल के समय सुविधा और जानकारी मोहिया कराने के उद्देश्य से एक

Live Cricket