Download Our App

Follow us

Home » कानून » अयोध्या की तर्ज पर होगा चित्रकूट का विकास…उज्जैन रेलवे स्टेशन से महाकाल मंदिर तक रोपवे को मंजूरी

अयोध्या की तर्ज पर होगा चित्रकूट का विकास…उज्जैन रेलवे स्टेशन से महाकाल मंदिर तक रोपवे को मंजूरी

                                                    आचार संहिता के पहले हुई कैबिनेट बैठक

भोपाल (जयलोक)
लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने के पहले मोहन यादव कैबिनेट की आखिरी बैठक गुरुवार को हुई। बैठक में अयोध्या के तर्ज पर मध्य प्रदेश के चित्रकूट का विकास किए जाने का फैसला हुआ। इसके लिए चित्रकूट विकास प्राधिकरण का गठन किया गया है। इसके साथ ही प्रदेश के चार प्रमुख धर्मस्थलों पर रोपवे बनाएं जाएंगे। इसमें उज्जैन रेलवे स्टेशन से महाकाल मंदिर तक का रोपवे भी शामिल है।
बैठक में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि तमाम अटकलों के बावजूद राज्य शासन द्वारा कोई भी योजना बंद नहीं की गई है। राजस्व और पूंजीगत व्यय की सभी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए राज्य शासन के पास पर्याप्त वित्तीय संसाधन उपलब्ध हैं। सीएम ने मंत्रियों से कहा कि सभी मंत्री अपने विभाग की समीक्षा करें और समय सीमा में काम कराएं। बजटेड कामों की समीक्षा में कमी नहीं आनी चाहिए। प्रदेश सरकार की वित्तीय स्थिति बहुत अच्छी है। उन्होंने राज्य सरकार के सौ दिन पूरे होने पर सभी मंत्रियों को बधाई दी।
धार्मिक हवाई यात्रा के लिए सर्किट बनेगा
कैबिनेट बैठक के फैसलों की जानकारी देते हुए नगरीय विकास मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि प्रदेश में पीएम श्री पर्यटन वायुसेवा और पीएमश्री धार्मिक पर्यटन हेली सेवा को लेकर मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि अंतर राज्य हवाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश में हवाई सेवा आरंभ की जा रही है। ग्वालियर और जबलपुर के लिए यह सेवा आज से आरंभ होगी, जिसका विस्तार सागर, रीवा, रतलाम तथा अन्य स्थानों पर किया जाएगा। जहां-जहां हवाई पट्टी और यात्रियों की उपलब्धता होगी, वहां यह सुविधा शीघ्र आरंभ होगी।
धार्मिक पर्यटन बढ़ावा मिलेगा
मुख्यमंत्री डॉक्टर यादव ने कहा कि धार्मिक पर्यटन को सुविधाजनक बनाने और प्रोत्साहित करने के लिए हवाई सेवा आरंभ की जा रही है। प्रारंभिक रूप से इंदौर को केंद्र बनाते हुए उज्जैन तथा ओंकारेश्वर के लिए हवाई सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। दोनों हवाई सेवाओं का नाम प्रधानमंत्री के नाम पर रखते हुए पीएम श्री रखा गया है। इससे धार्मिक पर्यटन बढऩे के साथ-साथ बड़े शहरों से कनेक्टिविटी भी बढ़ेगी। कैबिनेट बैठक में पीएमश्री पर्यटन वायुसेवा, पीएम श्री धार्मिक पर्यटन हेली सेवा भी शुरू करने पर फैसला हुआ। इंदौर से महाकाल और ओंकारेश्वर तक शुरुआत होगी। इसका एक सर्किट बनेगा। दूसरे धार्मिक स्थलों तक भी इसका विस्तार किया जा सकेगा।
एससी-एसटी होस्टल की स्टडी के लिए मंत्रियों की कमेटी
सीएम ने एससी-एसटी के होस्टल अच्छे से संचालित हों।इसके लिए मंत्रियों की कमेटी बनाई गई है। यहां सुविधाओं पर फोकस किया जाएगा। मंत्री विजय शाह, निर्मला भूरिया और दिलीप अहिरवार की एक कमेटी बनाई गई है जो अध्ययन कर सुझाव देंगे। शाह कमेटी के अध्यक्ष होंगे।
चित्रकूट विकास प्राधिकरण बनेगा
अयोध्या में रामलला की प्राणप्रतिष्ठा होने के बाद अब चित्रकूट में भी लोगों की भीड़ बढऩे लगी है। इसलिए सीएम ने तय किया है कि चित्रकूट के विकास के लिए विकास प्राधिकरण बनेगा। इसके लिए पदों का सृजन किया जाएगा। इसके लिए शुरुआत में कलेक्टर को 20 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। इस प्राधिकरण के माध्यम से नगरीय और ग्रामीण क्षेत्र में काम किए जाएंगे।

Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » कानून » अयोध्या की तर्ज पर होगा चित्रकूट का विकास…उज्जैन रेलवे स्टेशन से महाकाल मंदिर तक रोपवे को मंजूरी