Download Our App

Follow us

Home » Uncategorized » आईएसबीटी से बस पकडक़र भागे पिता भाई की हत्यारी बेटी और उसका प्रेमी

आईएसबीटी से बस पकडक़र भागे पिता भाई की हत्यारी बेटी और उसका प्रेमी

निर्दयी बनी बेटी ने समाज के सामने उठा दिए कई प्रश्न

जबलपुर (जय लोक)
सिविल लाइन थाना अंतर्गत हुए दोहरे हत्याकांड और नाबालिक के अपहरण की स्टोरी में नया मोड़ आ गया। इस दोहरे हत्याकांड में रिश्तों को कलंकित करने वाली निर्दयी नाबालिग बेटी और उसका आशिक बहुत ही शातिराना अंदाज में पुलिस से भागते नजर आ रहे हैं। कल घटना के तत्काल बाद जाँच में लगी पुलिस को जो सीसीटीवी फुटेज मिले थे उसमें आरोपी मदन महल रेलवे स्टेशन के बाहर लाल रंग की स्कूटी खड़े करते हुए नजर आ रहे थे। पूर्व में यह अनुमान लगाया जा रहा था कि आरोपियों ने टे्रन के जरिए भागने का रास्ता चुना, लेकिन यह गलत निकला। दोनों आरोपी आईएसबीटी बस स्टेण्ड से बस के माध्यम से फरार होते हुए कैमरे में कैद हो गए। वहीं प्रेम के जाल में अंधी हुई निर्दयी और रिश्तों को कलंकित करने  वाली नाबालिग बेटी ने समाज के सामने कई गंभीर प्रश्न खड़े कर दिए हैं।
पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह इस जघन्य दोहरे हत्याकांड के आरोपियों को पकडऩे के लिए लगातार लगाई गई टीमों की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। पल-पल की जानकारियाँ लेकर टीमों को मार्गदर्शन दे रहे हैं ताकि जल्द से जल्द दोनों हत्यारे पकड़े जा सकें।
अपने 52 वर्षीय पिता राजकुमार विश्वकर्मा और 9 साल के भाई तनिष्क को बेरहमी से मारने वाला सिर्फ मुकुल सिंह ही नहीं है बल्कि उनकी नाबालिग बेटी भी है। पुलिस को प्राप्त सीसीटीवी फुटेज में लडक़ी का व्यवहार आचरण स्पष्ट रूप से उसकी इस दोहरे हत्याकांड में संलिप्तता को उजागर कर रहा है।
पुलिस जब इस मामले की गुत्थी सुलझाने में जुटी तो नए नए खुलासे सामने आने लगे। पुलिस के सामने यह स्पष्ट होता जा रहा है कि 16 वर्षीय बेटी ने प्रेमी के साथ मिलकर इस हत्याकांड को अंजाम दिया है। पुलिस का शक उस वक्त और गहरा गया जब कॉलोनी, रेलवे स्टेशन और आईएसबीटी में लगे सीसीटीवी कैमरे में दोनों साथ जाते दिखे।  सीसीटीवी कैमरे में साफ दिख रहा है कि मुकुल कॉलोनी से बाहर जाने के लिए दोपहिया वाहन को स्टार्ट करता है और नागालिग बेटी अपने प्रेमी के लिए गेट खोलती नजर आ रही है। युवती के हावभाव से यह साफ नजर आ रहा है कि युवती अपनी मर्जी से प्रेमी के साथ जा रही है उसका अपहरण नहीं किया गया है। इन दोनों के घर रेलवे कॉलोनी में आसपास हैं। घटना को अंजाम देने वाली रात से लेकर फरार होने तक कई बार आरोपी मुकुल सिंह रेलवे क्वार्टर से आता जाता दिखाई दे रहा है। आरोपियों ने पूर्व से हत्या की पुख्ता योजना बनाई थी जिससे हथियार, पन्नी व अन्य सामान पहले से ही लेकर आए थे।
धारदार हथियार से किया हमला
पुलिस को जाँच में यह बता भी पता चली है कि आरोपी मुकुल सिंह ने नाबालिग युवती के पिता राजेश विश्वकर्मा के सिर पर धारदार और भारी भरकर हथियार से एक के बाद एक कई वार किए जब तक राजेश ने दम नहीं तोड़ दिया। सबूत मिटाने के लिए आरोपी ने 9 साल के मासूम तनिष्क का भी पहले गला दबाया और फिर उस पर भी वार करके उसे भी मौत के घाट उतार दिया और उसके शव को फ्रिज में रख दिया।
हत्या के बाद बेटी ने छोड़ा वॉइस मैसेज
पिता पुत्र की हत्या के बाद नाबालिग बेटी सोनम ने इस पूरे वारदात की जानकारी अपने होशंगाबाद पिपरिया निवासी एक रिश्तेदार को दी थी। मैसेज भेजने के बाद नाबालिग युवती ने मोबाईल बंद कर लिया।
घर से भाग चुकी थी बेटी
पुलिस को यह जानकारी भी पता चली है कि 16 साल की सोनम 2023 में अपने प्रेमी मुकुल के साथ घर से भाग चुकी है। जिसकी शिकायत भी मृतक पिता ने सिविल लाइन थाने में दर्ज कराई थी, शिकायत के बाद पुलिस ने पास्को एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार उसे जेल भेजा था। हाल ही में आरोपी जेल से छूटकर आया और उसने फिर से अपने अधूरे प्यार को पाने के लिए बेटी के पिता और उसके बेटे को मौत के घाट उतार दिया।
बीएससी का छात्र है मुकुल, दसवीं में पढ़ती है नाबालिग
इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने वाला आरोपी मुकुल पड़ोस में ही रहता है। जो कॉलेज में बीएससी की पढ़ाई कर रहा है। वहीं 16 साल की सोनम ने अभी हाल ही में दसवीं का पेपर दिया है। बताया जा रहा है कि दोनों के बीच में पिछले 1 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था और इस प्रेम प्रसंग में बेटी का पिता आड़े आ रहा था, जिसे रास्ते से हटाने के लिए दोनों ने मिलकर योजना बनाई। पुलिस का कहना है कि दोनों के बॉडी लेंग्वेज से साफ नजर आ रहा है कि इस दोहरे हत्याकांड को दोनों ने मिलकर अंजाम दिया है।
आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए बनाई गई चार टीम
पुलिस ने मामले में दोनों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की चार टीम बनाई है जिन्हें अलग-अलग दिशा में रवाना किया गया है।
वहीं अन्य जिलों की पुलिस को भी इसकी जानकारी दी गई है। पुलिस स्टेशन में लगे सीसीटीवी फुटेज की भी जांच कर रही है।

इनका कहना है

  इस दोहरे हत्याकांड में नाबालिग लडक़ी पूरी तरह से संदेह के दायरे में हैं। उसके इस हत्याकांड में शामिल होने के कई प्रमाण जाँच में सामने आ रहे हैं। आरोपियों ने अपनी स्कूटी को मदन महल स्टेशन के बाहर छोड़ा लेकिन शहर से भागने के लिए आईएसबीटी बस स्टेण्ड से बस पकड़ी। यह सब सोची समझी साजिश के तहत किया गया। पुलिस टीमें लगातार दोनों की तलाश में लगी हैं जल्द ही इन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
                                                                              आदित्य प्रताप सिंह, पुलिस अधीक्षक

 

Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » Uncategorized » आईएसबीटी से बस पकडक़र भागे पिता भाई की हत्यारी बेटी और उसका प्रेमी
best news portal development company in india

Top Headlines

दुकानदारी का अड्डा बना कंट्रोल रूम कलेक्टर ने किया बंद : चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी बनकर बैठा था प्रभारी

जबलपुर (जय लोक) जिला कलेक्टर कार्यालय में कोरोना काल के समय सुविधा और जानकारी मोहिया कराने के उद्देश्य से एक

Live Cricket