Download Our App

Follow us

Home » तकनीकी » म.प्र. फार्मास्युटिकल और चिकित्सा उपकरण निर्माण में गढ़ रहा नए आयाम

म.प्र. फार्मास्युटिकल और चिकित्सा उपकरण निर्माण में गढ़ रहा नए आयाम

भोपाल (जयलोक)। भारत की औद्योगिक शक्ति के विशाल परिदृश्य में मध्य प्रदेश एक गढ़ के रूप में उभरा है। प्रदेश फार्मास्युटिकल और चिकित्सा उपकरण निर्माण क्षेत्रों में भी विकास के नए आयाम गढ़ रहा है। नवीन प्रौद्योगिकी एवं निवेश के लिये सर्वसुविधा युक्त आदर्श क्षेत्र के रूप में फार्मास्युटिकल के क्षेत्र में वैश्विक पहचान बनाने की ओर अग्रसर है। प्रौद्योगिकी अपनाने और निवेश सुविधा से विकास को बढ़ावा देने पर रणनीतिक फोकस के साथ, राज्य इन महत्वपूर्ण क्षेत्रों में वैश्विक परिदृश्य को फिर से परिभाषित करने के लिए तैयार है।
फार्मास्युटिकल पावर हाउस- फार्मास्युटिकल के वैश्विक बाजार में भारत का प्रभुत्व निर्विवाद है और इस परिदृश्य में, मध्य प्रदेश अपने मजबूत इकोसिस्टम के साथ खड़ा है। राज्य में 270 से अधिक फार्मास्युटिकल इकाइयों का एक नेटवर्क है, जिसमें 39 एपीआई/बल्क ड्रग विनिर्माण इकाइयां शामिल हैं, जिसमें 50 से अधिक इकाइयां डब्ल्यूएचओ-जीएमपी मानकों का पालन करती हैं। ये प्रतिष्ठान न केवल घरेलू बाजार की पूर्ति कर रहे हैं बल्कि दुनिया भर के 160 से अधिक देशों में अपने उत्पादों का निर्यात भी कर रहे हैं। वित्तीय वर्ष 2022 में राज्य के निर्यात में इस क्षेत्र का योगदान बढक़र 20.5त्न हो गया, जो आर्थिक विकास को आगे बढ़ाने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित करता है। सरल नीति और निवेश के लिये आदर्श स्थल होने के कारण म.प्र. ने कई फार्मास्यूटिकल पार्क के स्थापित होने से इस क्षेत्र में म.प्र. सशक्त होकर उभरा है। मध्य प्रदेश की फार्मास्युटिकल शक्ति उसकी दूरदर्शी पहलों, जैसे राज्य भर में आगामी फार्मा पार्कों के विकास, से और भी बढ़ गई है। ये पार्क नवाचार के लिए इनक्यूबेटर के रूप में काम करेंगे, अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे और अनुसंधान और विकास के लिए अनुकूल वातावरण प्रदान करेंगे। इसके अलावा, सन फार्मा, ल्यूपिन, ग्लेनमार्क, सिप्ला, माइलान, डाबर, अरिस्टो, आईपीसीए जैसी बड़ी कंपनियां म.प्र. में अपना व्यवसाय शुरू कर रही हैं। मध्य प्रदेश वैश्विक मंच पर एक फार्मास्युटिकल पावरहाउस के रूप में अपनी स्थिति मजबूत कर रहा है।
चिकित्सा उपकरण विनिर्माण केंद्र -चिकित्सा उपकरणों के लिए वैश्विक बाजार में तेजी से वृद्धि देखी जा रही है, भारत, महत्वाकांक्षी मेक इन इंडिया पहल के तहत, खुद को इस क्षेत्र में अग्रणी के रूप में स्थापित कर रहा है। उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना और चिकित्सा को बढ़ावा देने जैसी योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। मेडिकल डिवाइसेस पार्क योजना के अन्तर्गत राज्य सरकार बड़े पैमाने पर विनिर्माण को प्रोत्साहित कर रही है और उप-क्षेत्रों में निवेश की सुविधा प्रदान कर रही है।
भारत सरकार द्वारा प्रस्तावित चार मेडिकल डिवाइस (एमडी) पार्कों में से एक मध्य प्रदेश में स्थापित किया गया है, जो अपने मौजूदा इंजीनियरिंग और प्लास्टिक इकोसिस्टम के साथ-साथ चिकित्सा उपकरणों के निर्माण के केंद्र के रूप में राज्य के विकास को प्रदर्शित करता है। म.प्र. फार्मास्यूटिकल्स में अपनी प्रगति के अनुरूप तेजी से खुद को चिकित्सा उपकरण उत्पादन के केंद्र बिंदु के रूप में स्थापित कर रहा है। (विक्रम उद्योगपुरी लिमिटेड, उज्जैन में 360 एकड़ में फैले मेडिकल डिवाइस पार्क) सस्ती भूमि और बुनियादी ढांचे उपलब्धता से मेडिकल इमेजिंग, इम्प्लांट मैन्युफैक्चरिंग, सर्जिकल उपकरण और पहनने योग्य वस्तुओं जैसे विभिन्न क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ, मध्यप्रदेश नवाचार और निवेश के लिए अनुकूल माहौल के लिए आधार तैयार कर रहा है।
इस क्षेत्र में आयेगा निवेश- मध्यप्रदेश मालवा क्षेत्र के सुस्थापित इकोसिस्टम में उज्जैन में क्षेत्रीय उद्योग कॉन्क्लेव 2024 की मेजबानी करने के जा रहा है, इसमें फार्मास्यूटिकल्स और चिकित्सा उपकरण क्षेत्र में निवेश के लिये कई प्रस्ताव आयेगे। यह आयोजन उद्योग जगत के दिग्गजों, सेक्टर विशेषज्ञों और सरकारी अधिकारियों का एक संगम होने का वादा करता है, जो निवेश के अवसरों का पता लगाने और भविष्य के विकास के लिए पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए एकत्रित होंगे। मध्यप्रदेश का फार्मास्यूटिकल्स और चिकित्सा उपकरणों में एक मजबूत ताकत के रूप में उभरना नवाचार, निवेश और समावेशी विकास के प्रति इसकी अटूट प्रतिबद्धता का प्रमाण है। एक अनुकूल इकोसिस्टम दूरदर्शी नीतियों और रणनीतिक पहलों के साथ, म.प्र. भारत के औद्योगिक प्रगति के क्षेत्र में एक नया अध्याय लिखने के लिए तैयार है, जो निवेशकों और हितधारकों को एक स्वस्थ और अधिक समृद्ध भविष्य को आकार देने के लिए हाथ मिलाने के लिए प्रेरित करेगा।

Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » तकनीकी » म.प्र. फार्मास्युटिकल और चिकित्सा उपकरण निर्माण में गढ़ रहा नए आयाम
best news portal development company in india

Top Headlines

राम मंदिर को उड़ानें की धमकी, जैश ए मोहम्मद ने ऑडियो जारी कर दी चेतावनी, पुलिस अफसर बोले- ऐसी कोई सूचना नहीं

भोपाल (एजेंसी/जयलोक)। अयोध्या में राम मंदिर पर आतंकी हमले की धमकी की खबर आ रही है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक,

Live Cricket