Download Our App

Follow us

Home » राजनीति » प्राथमिक शिक्षा पर अघात पहुँचा रही नई शिक्षा नीति

प्राथमिक शिक्षा पर अघात पहुँचा रही नई शिक्षा नीति

जबलपुर (जयलोक)
कांग्रेस के बिजली प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सौरभ शर्मा ने कहा है कि निजी कोचिंग संस्थाओं के खिलाफ  कांग्रेस बड़ा आंदोलन करने जा रही है। उन्होंने आरोप लगाया है कि केन्द्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा प्राथमिकी शिक्षा पर घात किया जा रहा है और गरीब और मध्यवर्गीय बच्चों को उच्चतम शिक्षा प्राप्त करने से वंचित रखने का कूचक्र रचा गया है। श्री शर्मा यहां पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। इस दौरान पूर्व नगर कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश यादव, महिला कांग्रेस अध्यक्ष कमलेश यादव, गीता शरद तिवारी, अतुल बाजपेयी और संतोष पंडा उपस्थित थे। श्री शर्मा ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान बताया कि वर्ष 2024 के जनवरी माह में शिक्षा मंत्रालय (भारत सरकार) के द्वारा निजी कोचिंग संस्थाओं के संचालन हेतु दिशा निर्देश जारी किये गये है। इन दिशा निदेर्शों में परंपरानुसार वैसा ही सर्कुलर है, जैसा एक फिक्स फार्मेट में सरकारों के द्वारा जारी किया जाता है, इस सर्कुलर में उद्देश्य एवं दिशा निर्देश देते हुये सरकार जाहिर करना चाहती है कि इसका उद्देश्य छात्र बच्चों के लिये व्यवसायिक नीति एवं मनोवैज्ञानिक परामर्श उपलब्ध कराना है। वहीं इस सर्कुलर के शीर्षक 4 (।।) में परिभाषित किया गया है कि ऐसा परिक्षेत्र जहां पर 50 से अधिक बच्चे शिक्षा ग्रहण करते हैं एवं जहाँ पर परामर्श, खेलकूद, नृत्य, थियेटर इत्यादि गतिविधियां संचालित नहीं की जाती उस संस्थान को कोचिंग सेंटर की संज्ञा दी गई है, वहीं इस सर्कुलर के शीर्षक 6।(सी) में शिक्षा व्यवस्थाओं को अंधकार में डालने एवं गरीब एवं मध्यम वर्गीय परिवार के बच्चों की प्राथमिकी शिक्षा पर तुगलकी फरमान जारी कर कुठाराघात किया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि एक तरफ  सरकार अपने दिशा निदेर्शों में यह जाहिर कर रही है कि वह इस नीति के तहत इस देश के भविष्य को व्यवसायिक नीति-मनोवैज्ञानिक परामर्श प्रदान करना चाहती है वहीं दूसरी तरफ  सरकार के इस फैसले से न केवल शिक्षा व्यवस्था कमजोर पड़ेगी साथ ही साथ इस देश में करोडों अभिभावकों के बच्चे उच्च शिक्षा व्यवस्था से वंचित रह जायेगें।
आज सौंपेंगे ज्ञापन
बच्चों की प्राथमिकी शिक्षा को खंडित करने केन्द्र सरकार के आदेश के खिलाफ आज कांगे्रस कार्यकर्ता प्रधानमंत्री, केन्द्रीय शिक्षा मंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपेंगे।

Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » राजनीति » प्राथमिक शिक्षा पर अघात पहुँचा रही नई शिक्षा नीति