Download Our App

Follow us

Home » Uncategorized » जबलपुर के विकास की नितिन गडकरी के पास कई योजनाएं, जानिए क्या रखी मुख्यमंत्री के समक्ष मांग : मप्र की ग्रोथ का इंजन है जबलपुर-नितिन गडकरी

जबलपुर के विकास की नितिन गडकरी के पास कई योजनाएं, जानिए क्या रखी मुख्यमंत्री के समक्ष मांग : मप्र की ग्रोथ का इंजन है जबलपुर-नितिन गडकरी

महाकोशल के क्षेत्र में विकास की सर्वाधिक संभावना, जबलपुर के साथ न्याय होगा-सीएम मोहन यादव
परितोष वर्मा
जबलपुर (जय लोक)। केन्द्रीय सडक़ परिवहन मंत्री और अपनी कार्य शैली के लिए विश्वभर में अपनी अलग पहचान बनाने वाले विकास शील नेताओं की गिनती में शुमार नितिन गडकरी का आज जबलपुर आगमन हुआ। भव्य कार्यक्रम में उन्होंने 2367 करोड़ के विकास कार्यों का भूमि पूजन और लोर्कापण किया। अपने सदे हुए और विश्वसनीय शब्दों से ओतप्रोत उद्बोधन में केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि जबलपुर मध्य प्रदेश के ग्रोथ का इंजन है। अपने दस साल के कार्य काल में मुझे कई बार यहाँ आने का अवसर मिला है। यह क्षेत्र पर्र्यंटन की दृष्टि से महत्तवपूर्ण है, कृषि और खनिज की दृष्टि से भी महत्तवपूर्ण है। मध्य प्रदेश में जबलपुर का प्रमुख स्थान है। अब हमें अगर विकास की गति बढ़ाना है तो चार बातों का होना आवश्यक है। पानी, बिजली, दूर संचार और परिवहन। अब मैं इन चार बातों में से परिवहन मंत्री होने के नाते बेहतर से बेहतर कार्य करने का प्रयास कर रहा हूँ। उन्होंने एक स्मरण साझा करते हुए कहा कि यह बात वह हमेशा याद रखते हैं कि अमेरिका एक बड़ा धनवान देश है इसलिए वहां की सडक़ें अच्छी हैं, बल्कि वहां की सडक़ें अच्छी है इसलिए अमरीका धनवान हैं। मध्य प्रदेश में सडक़ें अच्छी होंगी तो औद्योग, व्यापार, पर्यंटन, कृषि सब में इजाफा होगा।

जबलपुर शहर में बनेंगे रोप-वे

कार्यक्रम के दौरान केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी के समक्ष एक प्रजेेंटेशन भी प्रस्तुत किया गया जिसके माध्यम से भविष्य में जबलपुर की सडक़ों पर हवाई मार्ग बनाते हुए रोप-वे का संचालन दर्शाया गया। यह भविष्य की बहुत कारगर योजना साबित होगी जिसके माध्यम से जबलपुर के व्यस्ततम क्षेत्र बड़ा फुहारा, कमानिया, मालवीय चौक, दमोहनाका, गोरखपुर, गढ़ा जैसे सघन क्षेत्रों में भी मेट्रो रेल की तर्ज पर रोप-वे का निर्माण कर वैकल्पिक यातायात मार्ग निर्मित किया जा सकेगा।  आज नितिन गडकरी और मुख्यमंत्री मोहन यादव ने विटनरी कालेज ग्राउंड में 2 हजार 367 करोड़ की सडक़ परियोजनाओं का भूमिपूजन व लोकार्पण किया।
श्री गडकरी ने कहा कि हम सिर्फ सडक़ मार्ग पर ही नहीं बल्कि जल मार्गों को भी विकसित करने पर ध्यान दे रहे हैं। भविष्य में इस बात की पूर्ण संभावना है कि मुंबई से हवाई जहाज उड़े तो भेड़ाघाट के समतल पानी पर उतरे और उसके बाद भोपाल की हवाई पट्टी पर उतरने के लिए रवाना हो जाए। यह संभव हो सकता है इस दिशा में हमारे प्रयास जारी हैं। इससे पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा और वैकल्पिक मार्ग भी तैयार होगा।
मध्य प्रदेश एक समय बीमारू राज्य कहलाता था लेकिन हमने कुछ समय पहले वह समय भी देखा है जब कृषि विकास के लिए भारत सरकार ने मप्र को पहला अवार्ड दिया था। मप्र में सिंचाई का रकवा लगातार बढ़ रहा है यह बहुत अच्छा संकेत है। श्री गडकरी ने कहा कि वे मूल रूप से किसान हैं और किसानों के बीच रहकर ही कार्य करते हैं। उन्होंने दायित्व सडक़ परिवहन मंत्रालय का प्राप्त है लेकिन उनकी अधिक रूचि कृषि और किसानों के बीच रहती है।
स्मार्ट सिटी और स्मार्ट विलेज का होना जरूरी
केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भारत के आत्म निर्भर होने का सपना देख रहे हैं और उसी को साकार करने के लिए कार्य किया जा रहा है। इसके लिए यह बहुत जरूरी है कि स्मार्ट सिटी के निर्माण के साथ साथ स्मार्ट विलेज का भी निर्माण हो। तभी हम आत्म निर्भर भारत बना पाएंगे। श्री गडकरी ने कहा कि हम जो हाईवे बना रहे हैं उसके बाजू में हमने एक हजार तालाब बनाकर राज्य सरकारों को सौंप दिए उसका पैसा भी नहीं लिया। हम मध्य प्रदेश के सीएम से आव्हान करते हैं कि जबलपुर के रिंग रोड में लगने वाली मिट्टी, मुरूम को शासकीय भूमि से उपलब्ध कराएं और वहां तालाबों का निर्माण कर जल संरक्षण का कार्य करें।
ऊर्जा दाता बने किसान
केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी ने कहा कि गाँव को विकसित करने के लिए सिंचाई का रकवा बढ़ाना जरूरी है इसके अलावा हमारा प्रयास है कि मध्य प्रदेश का किसान अन्न दाता के साथ साथ ऊर्जा दाता भी बने। बायोमास ऊर्जा का बड़ा स्त्रोत है, कई स्थानों पर इसके विभिन्न प्रकार के उपयोग से हम डामर बनाने के कारखाने के साथ हवाई जहाज का ईधन भी बना रहे हैं। भविष्य में अच्छी योजनाओं के साथ कार्य करने पर हम किसानों को ऊर्जा दाता बनाकर समृद्ध भी बना सकते हैं।
लॉजिस्टिक पार्क के       लिए माँगी जमीन
केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मंच से ही मुख्यमंत्री मोहन यादव से यह माँग की कि वे उन्हें हाईवे के पास बड़ी सरकारी भूमि चिन्हित कर उपलब्ध कराएं। इस भूमि पर पैसा उनका विभाग लगाएगा बदले में मध्य प्रदेश सरकार को हिस्सेदारी दी जाएगी। इस भूमि का उपयोग लॉजिस्टिक पार्क बनाने, बड़े-बड़े कोल्ड स्टोरेज बनाने के लिए होगा जिससे जबलपुर सहित महाकोशल के किसानों की सब्जी को क्रय कर सुरक्षित रखा जाएगा और इन्हें आगे विदेशों में भेजा जाएगा। उन्होंने आव्हन किया कि मध्य प्रदेश को ऊर्जा का केन्द्र बनने की दिशा में कार्य करना चाहिए और वे यह आशा करते हैं कि भविष्य में मप्र देश के तीन प्रगतिशील राज्यों में अपना स्थान बनाएगा और इसके लिए केन्द्र सरकार एवं उनके विभाग से जो भी सहयोग माँगा जाएगा वे उपलब्ध कराएंगे।
आज आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा कि महाकोशल क्षेत्र में विकास की सर्वाधिक संभावनाएं नजर आ रही हैं। यहीं वजह है कि हमने नई सरकार की पहली कैबिनेट बैठक यहां जबलपुर में आयोजित की। जबलपुर अंचल और पूरा क्षेत्र रानी दुर्गावती और रानी आवंती बाई का कार्य क्षेत्र रहा है। हमारी प्राथमिकता में अब जबलपुर अंचल का विकास शामिल हैं। मुख्यमंत्री श्री यादव ने यह भी कहा कि औद्योगिक रूप से उतना विकास नहीं हो पाया है लेकिन हम इस मामले में पूरा न्याय करेंगे। मुख्यमंत्री ने मंच से ही कहा कि आज केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी के कमलों से ढाई हजार करोड़ और भोपाल के औद्योगिक विकास कार्यों की गणना शामिल कर ली जाए तो दस हजार करोड़ के कार्यों का भूमि पूजन हो रहा है। मध्य प्रदेश और महाकोशल क्षेत्र में विकास कार्य किए जाने के बहुत संभावना हैं। कृषि, खनन, पर्यटन ऐसे हर क्षेत्र में बहुत काम हो सकते हैं और हमारे समक्ष तो ऐसे केन्द्रीय मंत्री बैठे हैं जिनके सामने विकास कार्य मांगने पर कम पड़ जाते हैं लेकिन ये देने से नहीं चूकते।
केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ना सिर्फ केवल देश की सडक़ों पर ध्यान केन्द्रीत कर विकसित कर रहे हैं बल्कि जल मार्गों को भी विकसित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री यादव ने केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी से नर्मदा वैली के लिए जलमार्ग की योजनाओं पर मार्गदर्शन और सहयोग की मांग भी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि सडक़ों से देश का भाग्य बनता है और आज पूर्व की सरकारों की अपेक्षा हम प्रतिदिन के 11.6 किलोमीटर की औसतन सडक़ निर्माण से बढक़र 29.6 किलोमीटर पर आ चुका है। यह कई देशों के लिए नजीर भी बना हुआ है।
गुणवत्ता के साथ समय पर काम कैसे होता है यह नितिन गडकरी ने बताया
खजुराहो के सांसद विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी की कार्य करने की शैली बिलकुल अलग है। उन्होंने कहा कि खुजराहो के आसपास सडक़ें बन जाने से पर्यटन को बढ़ावा भी मिला है और लोगों को बहुत सुविधा भी हुई है। सांसद श्री शर्मा ने कहा कि नितिन गडकरी ने पूरे देश में इस बात का आदर्श उदाहरण प्रस्तुत किया है कि विकास की भूमिका में सडक़ें कितनी महत्वपूर्ण होती हैं और गुणवत्ता के साथ समय सीमा में यह कार्य कैसे किया जाता है।
इन परियोजनाओं का हुआ लोकार्पण व भूमिपूजन
एनएच 539 के टीकमगढ़-झांसी सडक़ पर स्थित जामनी नदी पर पुल का निर्माण, चंदिया घाटी से कटनी बायपास तक दो लेन सडक़ उन्नयन कार्य, एनएच-339 के बमीठा से खुजराहो हिस्से का चार लेन चौड़ीकरण कार्य का लोकार्पण, इसके अलावा शिलान्यास कार्यक्रम में गुलगंज बायपास से बरना नदी तक दो लेन सडक़ उन्नयन कार्य, बरना नदी से केन नदी तक दो लेन सडक़ निर्माण, शहडोल से सागर टोला तक दो लेन सडक़ उन्नयन, एनएच-44 के अंतर्गत ललितपुर-सागर- लखनादौन खंडे में कुल 23 वीयूपी पुल, एनएच-44 के सुकतारा, खुरई और खवासा के कुल तीन फुट ओवर ब्रिज का निर्माण, बंजारी घाटी एनएच-44 पर दो ब्लैक स्पाट का सुधार कार्य का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया गया।
Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » Uncategorized » जबलपुर के विकास की नितिन गडकरी के पास कई योजनाएं, जानिए क्या रखी मुख्यमंत्री के समक्ष मांग : मप्र की ग्रोथ का इंजन है जबलपुर-नितिन गडकरी
best news portal development company in india

Top Headlines

राम मंदिर को उड़ानें की धमकी, जैश ए मोहम्मद ने ऑडियो जारी कर दी चेतावनी, पुलिस अफसर बोले- ऐसी कोई सूचना नहीं

भोपाल (एजेंसी/जयलोक)। अयोध्या में राम मंदिर पर आतंकी हमले की धमकी की खबर आ रही है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक,

Live Cricket