Download Our App

Follow us

Home » Uncategorized » पूरे महाकोशल के लिए सडक़, रेल और हवाई मार्ग को मजबूत करने राकेश सिंह का जोर

पूरे महाकोशल के लिए सडक़, रेल और हवाई मार्ग को मजबूत करने राकेश सिंह का जोर

पूर्व सांसद और वर्तमान मंत्री तेजी से बदल रहे हैं जबलपुर की तस्वीर और तकदीर

 

450 करोड़ से बदल गयी डुमना विमानतल की तस्वीर अब 460 करोड़ से बदलेगा रेलवे स्टेशन

जबलपुर (जयलोक)@ परितोष वर्मा जबलपुर शहर की तस्वीर और तकदीर बहुत तेजी के साथ बदल रही है और इस काम को बखूबी अंजाम दे रहे हैं पूर्व सांसद और प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री राकेश सिंह। कभी जबलपुर को एक बड़ा गांव कहा जाता रहा है। लेकिन 20 वर्षों तक लगातार सांसद रहने वाले राकेश सिंह के प्रयासों से अब जबलपुर पहले जैसा नहीं रहा। अब यह शहर देश के विकसित प्रमुख शहरों की बराबरी करने के लिए तेजी के साथ आगे बढ़ चुका है। विकास की बड़ी बड़ी योजनाओं को मूर्त रूप मिल रहा है। सांसद रहते हुए राकेश सिंह ने अपने 20 वर्ष के चार कार्यकाल में केंद्र सरकार से और प्रदेश सरकार से जबलपुर के विकास की कई महत्वपूर्ण योजनाओं को लागू करवाने का महत्वपूर्ण काम किया है। राकेश सिंह का यह मानना है कि शहर के सर्वांगीण विकास के लिए कनेक्टिविटी का होना सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। यह कनेक्टिविटी सडक़ मार्ग, रेल और एयर कनेक्टिविटी भी शहर के विकास में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।
सडक़ मार्ग से कनेक्टिविटी
जबलपुर शहर के सर्वांगीण विकास के लिए राकेश सिंह ने सडक़ मार्ग से कनेक्टिविटी बढ़ाने की दिशा में लगातार बड़े काम करवाए हैं। रिंग रोड जैसी योजना से जबलपुर शहर को चारों ओर से देश के प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग और राजमार्गों से जुड़वाने की महत्वपूर्ण योजनाओं को लागू करवा के इनके निर्माण कार्यों को कई स्थानों पर पूर्ण करा कर इसका लाभ दिलवाना भी शुरू कर दिया है। अभी कई स्थानों पर ये काम चल भी रहे हैं ।
केंद्र की सक्रियता का मिल रहा लाभ
जबलपुर की दिशा और दशा बदलने में राकेश सिंह को इस दृष्टि से भी कामयाबी मिल रही है कि केंद्र सरकार के प्राय:  सभी विभागों के केंद्रीय मंत्रियों से सांसद के रूप में उनका बेहतर तालमेल और निकटता रही है जिसका भरपूर लाभ उन्होंने जबलपुर शहर के विकास के लिए उठाया है।
लंबे समय बाद मिला जबलपुर को लोक निर्माण मंत्री
सांसद के रूप में केंद्रीय विभागों से बेहतर तालमेल रखने वाले राकेश सिंह अब नई भूमिका में आ गए हैं। वे प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री बने हैं। प्रदेश का लोक निर्माण विभाग सबसे महत्वपूर्ण विभाग विकास की दृष्टि से माना जाता है।जबलपुर में पूर्व में कांग्रेस के शासनकाल में परमानंद भाई पटेल और बाद में उनके बेटे श्रवण पटेल को भी लोक निर्माण मंत्री के रूप में काम करने का अवसर मिला।  राकेश सिंह के मंत्री बनने से लंबे समय के बाद अब एक बार फिर जबलपुर के खाते में लोक निर्माण विभाग आया है और इसके मंत्री राकेश सहने अपने लोक निर्माण विभाग से जबलपुर के विकास को लेकर योजनाओं को तैयार करने और उनको हमले जामा पहनाने की दिशा में भी तेजी के साथ प्रयास शुरू कर दिए हैं।
विश्व स्तरीय बनेगा  रेलवे स्टेशन
जबलपुर शहर के विकास के लिए रेलवे की कनेक्टिविटी को भी राकेश सिंह महत्वपूर्ण मानते हैं। इसीलिए सांसद रहते हुए राकेश सिंह में अपने  चार बार की कार्यकाल में जबलपुर की रेलवे कनेक्टिविटी को बढ़ाने की दिशा में लगातार प्रयास किए ।रेलवे स्टेशन को अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस करने की दिशा में भी उन्होंने प्रयास किये। नई ट्रेनों को शुरू करने में भी उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।अभी पिछले सप्ताह 25 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेलवे की देश की जिन योजनाओं की शुरुआत की और भूमि पूजन किया उसमें जबलपुर का रेलवे स्टेशन भी शामिल है। सांसद के रूप में राकेश सिंह जोन कार्यालय से जबलपुर के रेलवे स्टेशन के विकास के लिए जो योजनाएं बनवाई थीं उन्हें रेलवे बोर्ड को भिजवाया था। ये योजनाएं अब मूर्ति रूप लेने जा रही है। 460 करोड़ से जबलपुर का रेलवे स्टेशन अब विश्व स्तरीय बनेगा इस स्टेशन पर प्लेटफार्म की संख्या भी 6 से बढक़र 8 हो जाएगी। वहीं यह  रेलवे स्टेशन यात्री सुविधाओं की दृष्टि से भी अत्यधिक सुविधाओं से लैस हो जाएगा। जब जबलपुर का रेलवे स्टेशन विश्वस्तरीय बन जाएगा तब जबलपुर की तस्वीर भी बदली हुई नजर आएगी।
रिंग रोड और प्रदेश का सबसे बड़ा फ्लाईओवर
राकेश सिंह सांसद के रूप में अपने चार कार्यकाल में जबलपुर की सडक़ मार्ग से कनेक्टिविटी बढ़ाने की दिशा में जो महत्वपूर्ण प्रयास किए हैं उनमें शहर के बाहर चारों ओर रिंग रोड का निर्माण करने की महत्वपूर्ण योजना क्रियान्वित कराई है ताकि शहर के भीतर यातायात का दबाव कम हो सके। इसके साथ ही शहर के भीतर यातायात का दबाव कम करने के लिए सांसद राकेश सिंह ने दमोह नाका से लेकर मदन महल स्टेशन को पार करते हुए नागपुर मार्ग तक फ्लावर के निर्माण की योजना क्रियान्वित कराई है। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से न केवल उन्होंने इस योजना को मंजूर कराया बल्कि इसके काम का भूमि पूजन भी उन्हीं के हाथों से कराया। फ्लावर का निर्माण अब अपने अंतिम चरण की ओर है इसके निर्माण की लागत लगभग 1000 करोड़ के आसपास पहुंच रही है। यह 7 किलो मीटर से ज्यादा बनने वाला प्रदेश का सबसे लंबा फ्लाईओवर है। इस फ्लाईओवर के महानद्दा से लेकर एल आई सी तक के मार्ग का लोकार्पण भी करवा चुके हैं और इससे यातायात भी शुरू करवा चुके हैं।
जबलपुर में आधा दर्जन फ्लाई ओवर
योजनाओं का लाभ दिलवाले में राकेश सिंह ने अपने 20 साल के संसदीय कार्यकाल का भरपूर लाभ जबलपुर को दिलवाया है। अब मध्य प्रदेश शासन के लोक निर्माण मंत्री के रूप में वे पूरे प्रदेश में सडक़ों का बेहतर जाल बिछाने की रूपरेखा पर काम कर रहे हैं। हर गांव, दूर दराज के क्षेत्र को सडक़ मार्ग से जोडक़र वहां की उन्नति और विकास का रास्ता प्रशस्त करने का करने का प्रयास किया जा रहा है। अपनी कर्मभूमि जबलपुर को भी राकेश सिंह जल्दी ही आधा दर्जन से अधिक ऐसे फ्लाई फ्लावर की सौगात देंगे जिससे आने वाले 50 सालों तक का यातायात सुचारू रूप से संचालित हो सके। सूत्रों के अनुसार 4 से 5 फ्लावर के विभाग द्वारा प्रस्ताव भी तैयार किया जा रहे हैं। इनकी अनुमानित लागत 1000 करोड रुपए की बताई जा रही है। स्कीम जेडीए की स्कीम नंबर 41  के अंतिम छोर से रेलवे लाइन के ऊपर संजीवनी नगर की ओर, हवा बाग से लेकर गौरीघाट तक, पॉल नंबर 3 से रद्दी चौकी के बीच में, एसआइबिटी के पास फ्लाई ओवर प्रस्तावित है।
राष्ट्रीय स्तर का बना विमानतल  
जबलपुर शहर के विकास के लिए सांसद राकेश सिंह ने सबसे ज्यादा महत्व एयर कनेक्टिविटी को दिया क्योंकि यह एयर कनेक्टिविटी सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण मानी जाती है और कुछ ही समय में बड़े-बड़े शहरों की दूरी तय की जा सकती है इसीलिए सांसद राकेश सिंह के विकास के लिए 450 करोड रुपए की महत्वपूर्ण योजना तैयार कराकर उसका काम भी पूर्ण कराया वही उन्होंने देश के कई प्रमुख नगरों के लिए विमान सेवाएं भी शुरू कारण अब जब सांसद के रूप में राकेश सिंह द्वारा किए गए प्रयासों से जबलपुर का डुमना विमानतल अब राष्ट्रीय स्तर के विमानतलों की श्रेणी में आ जाएगा। 450 करोड रुपए की लागत से विमानतल पर नवनिर्मित एयरपोर्ट की नई टर्मिनल बिल्डिंग सहित अन्य निर्माण कार्यों का लोकार्पण 10 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से करने जा रहे हैं। विमानतल पर नई बिल्डिंग के साथ अन्य सुविधाओं से युक्त जो निर्माण कार्य प्रारंभ हुए वह अब जाकर पूर्ण हो चुके हैं। निश्चित ही अब जबलपुर से विमान सेवाओं की संख्या बढ़ाने की शुरुआत भी हो जाएगी।
Jai Lok
Author: Jai Lok

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Home » Uncategorized » पूरे महाकोशल के लिए सडक़, रेल और हवाई मार्ग को मजबूत करने राकेश सिंह का जोर
best news portal development company in india

Top Headlines

दुकानदारी का अड्डा बना कंट्रोल रूम कलेक्टर ने किया बंद : चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी बनकर बैठा था प्रभारी

जबलपुर (जय लोक) जिला कलेक्टर कार्यालय में कोरोना काल के समय सुविधा और जानकारी मोहिया कराने के उद्देश्य से एक

Live Cricket